टोक्यो ओलंपिक : सेमीफाइनल में भारतीय पुरूष हॉकी टीम की हार, पर देश का दिल जीता

India Belgium hockey match

नई दिल्ली। टोक्यों ओलंपिक (tokyo Olympics) के सेमीफाइनल में बेल्जियम ने भारत को 5-2 से हरा दिया. जहां एक तरफ पुरे देश को भारतीय पुरूष हॉकी टीम के फाइनल मे पहुंचने की उम्मीद थी वही दूसरी तरफ पुरे देश में भारतीय टीम के ओलंपिक सफ़र की प्रशंसा हो रही है. भारत अब कांस्य पदक के लिए मैदान मे उतरेगा और पिछले 41 वर्षों से भारतीय हॉकी टीम ओलंपिक में कोई पदक नहीं जीत पाई है. भारत ने आख़िरी बार 1980 के मॉस्को ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था. इससे पहले रियो ओलंपिक के क्वार्टर फ़ाइनल में बेल्जियम ने भारत को 1-3 से हराया था.

भारत-बेल्जियम सेमीफ़ाइनल मुकाबले की शुरूआत दमदार थी. मैच का पहला गोल बेल्जियम की तरफ से किया गया जो पेनल्टी कॉर्नर के रुप मे था. भारतीय टीम ने इस दबाव को बेहतरी से झेला और मैच के 7 वें और 8 वें मिनट मे दो गोल दागकर 2-1 की बढ़त बना ली. बेल्जियम की तरफ से पहल गोल लुयपर्ट ने किया जबकि भारत की तरफ से पहला गोल हरमनप्रीत और दूसरा गोल मनदीप सिंह ने किया. इस समय तक भारत का खेल दमदार था और बेल्जियम डिफ़ेंसिव खेल रहा था.

बेल्जियम ने बढ़त कैसे बनाई

बेल्जियम ने भारतीय डिफ़ेस को भेदने के लिए सेंटर में गेंद लाने की रणनीति बनाई और बढ़त बनानी शुरू की. इस बीच भारत को एक पेनल्टी मिली पर भारतीय टीम पेनल्टी कॉर्नर को गोल में नहीं तबदील कर सकी. जबकि बेल्जियम ने पेनल्टी कॉर्नर गोल मे बदल कर बराबरी कर ली.

चौथे क्वॉर्टर में बेल्जियम ने बढ़त बना ली. बेल्जियम के हेंड्रिक्स ने तीसरा गोल किया और 3-2 की बढ़त बना ली. और इसके बाद बेल्जियम ने 2 गोल करके 5-2 से मैच जीत लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *